Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

स्वच्छता सर्वेक्षण में फेलिक्स अस्पताल को लगातार तीसरी बार मिला अवार्ड, सीईओ रितु माहेश्वरी ने किया सम्मानित

नोएडा,14 जनवरी 2023 (यूटीएन)। सेक्टर 6 स्थित  इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में शनिवार को सेक्टर 137 स्थित फेलिक्स अस्पताल को अस्पतालों के स्वच्छता सर्वेक्षण वर्ष-2023  के अक्टूबर से दिसंबर (त्रैमासिक) रैंकिंग में लगातार तीसरी बार सम्मान प्राप्त हुआ। नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने अस्पताल के चेयरमैन डॉ डीके गुप्ता और डॉ रश्मि गुप्ता को स्वच्छता रैंकिंग का पुरस्कार देकर सम्मानित किया। डॉ डीके गुप्ता ने बताया कि नोएडा विकास प्राधिकरण द्वारा शहर को साफ-सुथरा रखने के लिए लोगों को लगातार प्रेरित किया जा रहा है। नोएडा प्राधिकरण द्वारा स्वच्छता सर्वे लीग के तहत स्वच्छता रैंकिंग भी की जाती है। अवार्ड से पूर्व नोएडा प्राधिकरण की टीम ने अस्पताल का रखरखाव, सफाई, अपशिष्ट प्रबंधन एवं निष्पादन, संक्रमण नियंत्रण एवं रोकथाम, अस्पताल सहयोगी सेवाएं, स्वच्छता प्रोत्साहन मानकों पर निरीक्षण किया था। इसी आधार पर रिजल्ट तैयार किया गया था।

 

बीमारियों से बचने के लिए सफाई रखना अति आवश्यक है। यह सभी के सहयोग से ही संभव है, क्योंकि गंदगी ही सभी बीमारियों का मूल कारण है। अस्पताल का एक मात्र लक्ष्य कर्मचारियों, मरीजों और उनके परिजनों को एक स्वस्थ और स्वच्छ वातावरण उपलब्ध करना है। इसी को ध्यान में रखते हुए अस्पताल में संक्रमण से बचाव के लिए इंफेक्शन कंट्रोल के नियमों को पूर्णरूप से लागू किया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय एवं राज्य सरकार की जो गाइडलाइन है। उन्हें भी विभागों में पूर्णतया लागू करते हुए सभी कर्मचारियों को गाइडलाइन के बारे में प्रशिक्षण दिया गया है। अस्पताल में मरीजों एवं कर्मचारियों के लिए अलग-अलग प्रवेश द्वार बनाए गए एवं मुख्य द्वार पर हाथ धोने व हाथ सैनिटाइज करने की सुविधा है।
अस्पताल के अंदर प्रवेश द्वार लॉबी, गलियारे, सीढ़ी, लिफ्ट, सुरक्षा गार्ड बूथ, कार्यालय कक्ष, बैठक कक्ष, ओपीडी, कैफेटेरिया, भर्ती वार्ड, लैब, केबिन और वॉश बेसिन और टॉयलेट की नियमित सफाई की जाती है।

 

साफ सफाई रखकर ही बीमारियों से बचा जा सकता है। मरीजों के स्वास्थ्य में सुधार के लिए अस्पतालों का स्वच्छ होना सौ फीसद जरूरी है। इसके लिए हर संभव प्रयास किया जाता है। अस्पताल का एक मात्र लक्ष्य कर्मचारियों, मरीजों और उनके परिजनों को एक स्वस्थ और स्वच्छ वातावरण उपलब्ध करना है। बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के लिए भी अस्पताल को पूर्व में भी कई बार सम्मानित किया जा चुका है। फेलिक्स अस्पताल को कोरोना महामारी के दौरान स्वास्थ्य क्षेत्र में बेहतर योगदान के लिए एबीपी न्यूज, दैनिक जागरण, रोटरी क्लब, ज़ी सलाम, ज़ी मीडिया एवं फिक्की की तरफ से सम्मान मिल चुका है | फेलिक्स ग्रुप आने वाले दो नये अस्पतालों का भूमि पूजन भारत के प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेंद्र मोदी जी और प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में किया गया। फेलिक्स अस्पताल स्थापना से ही जनता की भलाई के लिए कार्य करता आ रहा है । अस्पताल ने कोरोना के मुश्किल समय में लोगों के लिए दिन रात अविस्मरणीय कार्य किये हैं। वर्तमान में फेलिक्स अस्पताल , गूगल पर सर्वाधिक पेशेंट रिव्यु के साथ लोगों की पहली पसंद बन चुका है |

 

नोएडा में देश का पहला ड्राइव-थ्रू 24*7 COVID टीकाकरण केंद्र फेलिक्स द्वारा ही लाया गया अभी तक फेलिक्स अस्पताल द्वारा दो लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है।  अस्पताल द्वारा पुलिस, सेना और फ्रंट लाइन वर्कर्स के लिए मुफ्त COVID टीकाकरण किया गया। प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और सोशल मीडिया के माध्यम से डॉ. डीके गुप्ता द्वारा महामारी के बारे में जन जागरूकता कार्यक्रम चलाये गये। कोविड और नॉन -कोविड रोगियों को ऑक्सीजन सिलेंडर, कोरोना किट उपलब्ध कराये गये उनकी घर पर देखभाल की गई। कोविड और नॉन -कोविड रोगियों को मुफ्त एम्बुलेंस सेवाएं उपलब्ध करायी गयीं। डोर टू डोर मुफ्त नर्सिंग और अन्य चिकित्सा सुविधाएं दी गईं , गैर-कोविड मरीजों के लिए मुफ्त ओपीडी और टेली-परामर्श की सुविधा दी गई। 500 से अधिक निःशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर, स्वास्थ्य जागरूकता अभियान, स्वास्थ्य वार्ता का आयोजन किया गया जिनमें स्कूलों, गांवों, समाजों और कॉर्पोरेट संगठनों ने बढ़ – चढ़कर हिस्सा लिया।

नोएडा,(तेजिंदर बेदी) |

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]