Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

समाजसेवी जैसी सहानुभूति और सहयोग की भावना थाना प्रभारी में भी देखी तो पीडिता वृद्धा के आंसू निकल पड़े

बागपत, 06 अगस्त 2022 (यूटीएन)। असहाय, दुखी व पीड़ित की बात सुनकर कभी कभी पुलिस वाले भी संवेदनशील होते हैं और चाहते हैं कि, दोषी को जल्द से जल्द पकड लें, या फिर समस्या का समाधान कराएं | जनपद के थाना बडौत प्रभारी इंस्पेक्टर देवेश कुमार शर्मा ने जब एक वृद्धा की दास्तान सुनी, तो उन्हें मर्मांतक पीड़ा हुई | रोती हुई वृद्धा को न केवल उन्होंने ढाढस बंधाया बल्कि अपनी जेब से निकाल कर एक हजार रुपये भी दिए और साथ ही आश्वासन दिया कि, दोषी को शीघ्र बुलाकर पूछताछ होगी तथा समस्या का समाधान भी होगा। इस दौरान जब थाना प्रभारी देवेश कुमार शर्मा जब वृद्धा को पैसे दे रहे थे तो उन्हें लेते हुए आशीर्वाद और खुशी के दो बोल के बदले आंसू ही निकल सके।
लूम्ब के युवा समाजसेवी मनीष चौहान ने बताया कि पिछले महीने उन्हें एक सूचना मिली थी कि, एक वृद्धा न्याय की मांग के लिए दर-दर भटक रही है जिसके पड़ोसी संदीप ने ₹25000 यह कहते हुए लिए थे कि, प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत उनको पक्का मकान बनवाया जाएगा। कुछ दिनों बाद वृद्धा के मकान के पैसे उसके खाते में आ गए, जिसको संदीप शर्मा ने फुसलाकर बैंक से निकलवा कर, यह कहते हुए कि, यह पैसे उसको डीलर को देने हैं, उनसे ले गया। अब न तो वृद्धा का मकान बना और न ही पैसे मिले। मामला पुलिस के पास पहुंचा तो, इंस्पेक्टर देवेश शर्मा ने दरियादिली दिखाते हुए कुछ आर्थिक मदद की तथा मदद का पूरा भरोसा दिलाया।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]