Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

एण्डटीवी के कलाकारों ने अपने होमटाउन में हरियाली तीज मनाने के तौर-तरीकों के बारे में बताया

मुंबई, 03 अगस्त 2022 (यूटीएन)। भारत में हरियाली तीज, सबसे ज्यादा पावन हिन्दू त्यौहारों में से एक माना जाता है। देश के अलग-अलग हिस्सों में महिलाएं देवी पार्वती से अपने पतियों की लंबी उम्र की कामना के लिये इसे मनाती हैं। साथ ही एक कृषिप्रधान देश होने के नाते यह त्यौहार खुशियां लेकर आता है और माॅनसून के स्वागत के रूप में भी इसे मनाया जाता है। एण्डटीवी के कई कलाकारों ने इस त्यौहार के महत्व और अपने होमटाउन में इसे मनाने के तरीकों के बारे में बात की। इनमें शामिल हैं, शिव्या पठानिया (देवी पार्वती, ‘बाल शिव‘), सपना सिकरवार (बिमलेश, ‘हप्पू की उलटन पलटन‘), और विदिशा श्रीवास्तव (अनीता भाबी, ‘भाबीजी घर पर हैं)।
एण्डटीवी के ‘बाल शिव‘ की शिव्या पठानिया कहती हैं, ‘‘यह महीना बेहद पावन होता है और देशभर में भगवान शिव के भक्त इसे बेहद पूज्य मानते हैं। यह त्यौहार भगवान शिव और देवी पार्वती के मिलन के उपलक्ष्य में मनाया जाता है, जब भगवान शिव ने देवी पार्वती को अपनी पत्नी माना था। लोग इस दिन उपवास रखते हैं और कई तरह के पूजा-पाठ कर उनकी आराधना करते हैं। मेरे होमटाउन हिमाचलप्रदेश में इसे हरियाली तीज कहा जाता है। महिलाएं हरे रंग के कपड़े पहनती हैं, मेंहदी लगाती हैं, झूला झूलती हैं, पारंरिक गीत गाती हैं और अपने पतियों के लिये दिनभर उपवास रखकर उनकी लंबी उम्र और खुशहाली की कामना करती हैं।
वहां स्थानीय नेताओं द्वारा युवाओं और बच्चों के लिये मजेदार मेले का आयोजन किया जाता है, जिसमें मेरे भाई-बहन और मैं हमेशा हिस्सा लिया करते थे। मैं इस दिन के महत्व को समझ सकती हूं और अब यह मेरे लिये और भी महत्वपूर्ण हो गया है, क्योंकि अब मैं ‘बाल शिव‘ शो में देवी पार्वती की भूमिका निभा रही हूं। मैं अपने सभी दर्शकों को तीज की शुभकामनाएं देना चाहूंगी।‘‘ सपना सिकरवार, एण्डटीवी के ‘हप्पू की उलटन पलटन की बिमलेश कहती हैं, “हरियाली तीज उन त्योहारों और परंपराओं में से एक है जो पीढ़ियों से चले आ रहे हैं और आज भी मेरे परिवार में मौजूद है।
मेरे होमटाउन, मध्यप्रदेश में, विवाहित महिलाएं देवी पार्वती का आशीर्वाद लेने और अपने पति की खुशहाली के लिये उपवास रखने के लिए एक जगह इकट्ठा होती हैं। अच्छी फसलों के लिये गीत, नृत्य और प्रार्थना कार्यक्रमों के साथ माॅनसून के स्वागत में भी यह त्यौहार मनाया जाता है। लेकिन सच कहूं तो मुंबई आने के बाद मुझे सबसे ज्यादा याद आती है घर की बनी मिठाइयों और स्नैक्स की जैसे मालपुआ, खस्ता कचैरी, घेवर और ठेकुआ जो मेरी मां इस दिन के लिये बनाया करती थीं।‘‘ विदिशा श्रीवास्तव, एण्डटीवी के ‘भाबीजी घर पर हैं‘ की अनीता भाबी का कहना है,
‘‘वाराणसी में हरियाली तीज के दिन पूरा माहौल ही कमाल का होता है। इन दिन महिलाओं को नाचते-गाते, संगीत का मजा उठते, खरीदारी करते और आपस में मेल-मिलाप करते हुए देखा जा सकता है। मुझे ऐसा लगता है कि कोई भी त्यौहार मनाने का यह सबसे अच्छा तरीका है। शहर के कुछ लेडीज क्लब में उस दिन शिव विवाह को दर्शाती नाटिका की प्रस्तुति भी की जाती है। कुछ मजेदार काॅम्पीटिशन भी होते हैं जैसे तय समय में मेंहदी लगाना
और मंडप को सजाना, और बाद में भगवान शिव और देवी पार्वती की पूजा की जाती है। जब मैं छोटी थी तो मुझे भी कुछ काॅम्पीटिशन में हिस्सा लेने में मजा आता था। चूंकि, इस शहर को शिव की नगरी के नाम से भी जाना जाता है और यहां कई सारे शिव मंदिर भी हैं, भक्तजन मंदिरों में पूजा-अर्चना करते हैं, जिसे इस समय बेहद खूबसूरती से सजाया जाता है। काश, इस दिन मैं उन सारे अनुभवों को फिर से महसूस करने के लिये शहर में होती। मैं सभी खूबसूरत महिलाओं को हरियाली तीज की ढेर सारी शुभकामनाएं देती हूं।‘
मुंबई-रिपोर्टर, (हितेश जैन)।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]