Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

हमारे सनातन धर्म से ही समाज और राष्ट्र की पहचान दिव्यांग कांवडिया

बडौत, 24 जुलाई 2022 (यू.टी.एन.)। जज्बा और जुनून मुश्किलों को आसान कर देता है, यह चिर सत्य एकबार फिर साकार कर दिखाया है दिव्यांग कांवडिया ने | स्वयं का नाम और कांवड लाने का उद्देश्य न बताते हुए सिर्फ इतना कहा कि, भोले बाबा के प्रति श्रद्धा और विश्वास के सहारे उसकी हर मंजिल आसान होती आई है, यह मंजिल भी अब ज्यादा दूर नहींं है | गंगोत्री से चलकर कांवड और तिरंगा हाथ में लिए अपनी आस्था के सैलाब को एक पैर से हिमालय के मध्य मां गंगोत्री के पावन तीर्थ से बिना किसी संगी साथी की अपेक्षा किए, एकला चलो को आत्मसात् करते हुए अपने लक्ष्य हरियाणा के कुंडली की ओर अग्रसर है |
इसबीच अपने अनुभव साझा करते हुए दिव्यांग कांवडिया ने बताया कि, बाबा भोले की कृपा से हर मुश्किल आसान होती रही | पहाडों से लेकर मैदानी क्षेत्रों में जगह जगह विशेष सम्मान मिला, यह भी भोले की कृपा है | व्यापारी नेता मुदित जैन व नितिन जैन ने भी जब उन्हें देखा तो , हाथ जोड़कर व जय भोले की और बोल बम कहते हुए स्वागत किया और आतिथ्य सत्कार व फलाहार का निवेदन किया, तो मृदु मुस्कान बिखेरते हुए दिव्यांग कांवडिया यह कहते हुए आगे बढ गया  कि, हमारा धर्म ही समाज और राष्ट्र की पहचान है |

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]