Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

सूरजपुर सुखोमजारी बाईपास पर आरओबी बन जाते तो जाम की स्थिति न होती

पिंजौर, 07 जुलाई 2022 (यू.टी.एन.)। पिंजौर बद्दी रोड़ पर रोजाना घंटो तक लग रहे ट्रैफिक जाम से जहां एक तरफ आम लोग परेशान हो रहे है वही यह सरकारी स्कूलों और बद्दी इंडस्ट्रियल एरिया में नौकरी पेशा लोगो के लिए भी परेशानी का सबब बना हुआ है। कांग्रेस छात्र इकाई एनएसयूआई आरटीआई सेल के राष्ट्रीय कन्वीनर दीपांशु बंसल ने नालागढ़ रोड़ पिंजौर के रेलवे फाटक पर बन रहे आरओबी के निर्माण के चलते निरंतर जाम की स्थिति बने रहने के लिए प्रशासन की बेवकूफी और अनदेखी कारण बताया है।न तो जाम से निपटने के लिए पर्याप्त इंतजाम है वा न ही कोई वैकल्पिक मार्ग है। दीपांशु बंसल का कहना है कि जाम लगने का सबसे प्रमुख कारण प्रशासन की ओर से की गई मिस मैनेजमेंट है। यदि समय रहते प्रशासन और संबंधित अधिकारियों द्वारा जाम से निपटने के लिए वैकल्पिक रास्ते अपना लिए जाते तो इस दिक्कत का सामना न करना पड़ता।
आलम यह है कि पूरी सड़क पर निर्माण सामग्री गिरी हुई है और हैवी ट्रैफिक होने के कारण लोगो को घंटो तक जाम में फसे रहना पढ़ता है। इस मामले को लेकर पूर्व चेयरमैन विजय बंसल एडवोकेट का कहना है कि सूरजपुर सुखोमाजरी बाईपास का निर्माण कार्य सिर्फ दो आरयूबी न बनने के कारण रुका हुआ है।अब जब निर्माण कार्य पूरा नहीं हुआ तो बाईपास भी जनहित में चालू नहीं है। ऐसे में लोगो को जाम की समस्या के परेशानी झेलनी पड़ रही है। दीपांशु बंसल ने बताया कि अब तो एचएसवीपी द्वारा भी हुड्डा की रोड़ जोकि वैकल्पिक मार्ग के रूप में कही न कही उपयोग की जा सकती थी उसे भी अब रोड़ पर लगी नकली सामग्री को छुपाने के चलते बंद कर दिया गया है जिससे लोग परेशान है।रोजाना जाम से निपटने के लिए एक तरफ तो पुलिस स्टाफ पर्याप्त नहीं है तो वही हैवी ट्रैफिक कंट्रोल करना भी आसान नहीं है।
हरियाणा-स्टेट ब्यूरो, (सचिन बराड़)।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]