Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

इंदिरा आईवीएफ ने दिल्ली पटेल नगर में शुरू किया नया आधुनिकतम सेंटर

नई दिल्ली, 20 जून 2022 (यू.टी.एन.)। फर्टिलिटी ट्रीटमेंट्स (निःसंतान दंपतियों के लिए इलाज) की भारत में सबसे बड़ी श्रृंखला इंदिरा आईवीएफ ने दिल्ली के पटेल नगर में नया, आधुनिकतम सेंटर शुरू किया है। माननीय राज्य सभा सदस्य  अरुण सिंह जी, दिल्ली क्षेत्र के भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता जी और ईस्ट पटेल वार्ड के नगर निगम सदस्य रमेश कुमार जी ने इस सेंटर का उद्घाटन किया। इस अवसर पर इंदिरा आईवीएफ के संस्थापक और अध्यक्ष डॉ. अजय मुर्दिया, सीईओ और सह-संस्थापक डॉ. क्षितिज मुर्दिया, निदेशक और सह-संस्थापक डॉ. नितिज़ मुर्दिया और गायनेकोलॉजिस्ट आईवीएफ स्पेशलिस्ट और सेंटर हेड (दिल्ली) डॉ. अरविंद कुमार वैद भी उपस्थित थे।
उच्च सफलता दर और वैश्विक स्तर की प्रौद्योगिकी के लिए नामचीन इंदिरा आईवीएफ में हर साल 33000 से ज़्यादा भ्रूण (एम्ब्रयो) ट्रान्सफर किए जाते हैं, जिससे यह देश का एक सबसे अच्छा फर्टिलिटी क्लिनिक माना जाता है। अपने आज तक कार्यकाल में तकनीकी उत्कृष्टता को अपनी अनोखी खासियत बनाते हुए, इस क्षेत्र में अग्रणी सफलता दर दर्ज करने वाले इंदिरा आईवीएफ को मरीज़ केंद्रितता और जागरूकता, किफायती खर्च, आसान पहुंच और आश्वासन इन चार स्तंभों पर आधारित रणनीति के लिए पहचाना जाता है।  इस नए सेंटर के  शुरू होने से अब दिल्ली एनसीआर में इंदिरा के सेंटर्स की संख्या 11 और भारत भर में 109  हो चुकी है। आज तक इन केंद्रों ने हजारों जोड़ों का माता-पिता बनने का सपना साकार करने में मदद की है।
इंदिरा आईवीएफ के संस्थापक और अध्यक्ष डॉ. अजय मुर्दिया ने बताया, “पटेल नगर में और भी बड़ा सेंटर शुरू करते हुए हमें बहुत ख़ुशी हो रही है। अपना परिवार बनाने की ख़्वाहिश पूरी करने में कपल्स की मदद करने के लिए यहां नवीनतम इलाज सुविधाएं दी गयी हैं। शादीशुदा कपल्स के लिए बांझपन एक बहुत बड़ा बोझ बन सकता है, इस बात को हम बखूबी समझते हैं और इसीलिए उन्हें  किसी भी तरह की और तकलीफ दिए बिना आधुनिकतम इलाज देने के लिए प्रतिबद्ध है।भारत में बांझपन पर इलाज के प्रति व्यापक जागरूकता बहुत ही सीमित है।  छह में से एक कपल को बच्चें होने में कठिनाई होती है और यह समझना ज़रूरी है कि इसके कारण पति, पत्नी या दोनों में हो सकते हैं।
असिस्टेड रिप्रोडक्टिव टेक्नोलॉजी (सहायक प्रजनन तकनीक) पुरुषों और महिलाओं दोनों को माता-पिता बनने के सपने को पूरा करने के सफर में समाधान प्रदान करती है। इंदिरा आईवीएफ द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली तकनीकों में आधुनिकतम विकास ने इलाज के पहले साइकिल में ही गर्भ धारण करने में कई कपल्स की सहायता की है।
पिछले दशक में इंदिरा आईवीएफ ने 1,00,000 कपल्स को गर्भ धारण करने में मदद की है। इस संगठन ने अपनी आधुनिकतम तकनीक और कई चिकित्सा विशेषज्ञों और आईवीएफ विशेषज्ञों के ज़रिए अपनी प्रक्रियाओं के लिए असाधारण सफलता दर हासिल की है। यह संगठन नवीनतम सहायक प्रजनन तकनीक में निवेश करता है।
जिसमें इलेक्ट्रॉनिक विटनेसिंग सिस्टम्स, क्लोज्ड वर्किंग चेम्बर्स, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, माइक्रोफ्लुइडिक्स और बहुत कुछ शामिल है – जिससे देश भर में और दिल्ली एनसीआर में कपल्स को इलाज के सर्वोत्तम विकल्प मिलते हैं।
इस अवसर पर, इंदिरा आईवीएफ के सीईओ और सह-संस्थापक डॉ क्षितिज मुर्दिया ने कहा, “यह समझना बहुत ज़रूरी है कि, बच्चें होने में मुश्किल होने के कारण दोनों पार्टनर्स में हो सकते हैं। सही डायग्नोसिस से पुरुषों और महिलाओं दोनों को सहायक प्रजनन तकनीक के लाभ मिल सकते हैं, जो उनका माता-पिता बनने का सपना पूरा करने में मदद कर सकते हैं। इंदिरा आईवीएफ द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली तकनीकों में आधुनिकतम विकास ने इलाज के पहले साइकिल में ही गर्भ धारण करने में कई कपल्स की सहायता की है। भविष्य में भी इसी तरह से आगे बढ़ते रहना हमारा लक्ष्य है।”
सेंटर हेड (दिल्ली), स्त्री रोग विशेषज्ञ और आईवीएफ विशेषज्ञ डॉ अरविंद कुमार वैद ने कहा, “शुरुआत में जब हमने दिल्ली में कपल्स का इलाज शुरू किया था, तो हमने देखा कि उन्हें इलाज और इसके संभावित परिणामों के बारे में कई आशंकाएं थी। अब कई सफल इलाजों के बाद हम एक लंबा सफर तय कर चुके हैं और हम यह बताने में सक्षम हैं कि किस तरह के परिणाम प्राप्त किए जा सकते हैं। जब भी कपल्स इंदिरा आईवीएफ सेंटर में परामर्श और परीक्षण के लिए जाते हैं, तो हमारे प्रजनन विशेषज्ञ न केवल इसका कारण बताते हैं बल्कि उपचार प्रक्रिया के दौरान उनका पूरा  साथ देते हैं। इंदिरा आईवीएफ के कर्मचारी अत्यधिक पात्र हैं और इस क्षेत्र के विशेषज्ञ हैं।
इलाज लेना चाहने वाले कपल्स की उम्मीद को पूरा करना और उनके जीवन में खुशियां लाना हमारी आकांक्षा है।”
अत्याधुनिक बुनियादी ढांचे से लैस, इंदिरा आईवीएफ ने अनगिनत कपल्स को बांझपन की अक्सर मुश्किल दौर को नेविगेट करने में मदद की है और ‘अपना परिवार’ बनाने के उनके सपने को साकार किया है। यहां उनका काउंसलिंग किया जाता है और अंडे और शुक्राणु फ्रीज़िंग की सुविधा दी जाती है। यह सुविधा कई युवा पुरुषों और महिलाओं के लिए एक वरदान है, जो फॅमिली प्लानिंग को लंबे समय तक ज़ारी रखना चाहते हैं। इन्दिरा आईवीएफ देशभर में 109 केंद्रों के साथ भारत की सबसे बड़ी इनफर्टिलिटी स्पेश्यालिटी क्लीनिक श्रृंखला है, जहां 2400 से अधिक कुशल लोग अपनी सेवाएं दे रहे हैं।
इन्दिरा आईवीएफ द्वारा एक वर्ष में लगभग 30,000 से अधिक आईवीएफ प्रक्रियाएं की जाती हैं जो देश में सर्वाधिक हैं।
एक जिम्मेदार लीडर के रूप में इन्दिरा आईवीएफ द्वारा निःसंतानता के बारे में कलंक, निषेध, मिथकों और गलत सूचनाओं को दूर करने के लगातार प्रयास किये जाते हैं। इन्दिरा आईवीएफ फर्टिलिटी ट्रीटमेंट के लिए प्रतिभा को विकसित करने और निखारने के लिए भी प्रतिबद्ध है। इन्दिरा फर्टिलिटी एकेडमी के माध्यम से इस उद्देश्य को आगे बढ़ाने के लिए समान विचारधारा वाले संगठनों और संस्थानों साथ सहयोग करता है। इस सेक्टर में इन्दिरा आईवीएफ की क्षमता को देखते हुए अमेरिका की एक प्रमुख वैश्विक इक्विटी फर्म टीए एसोसिएट्स ने 2019 में संगठन में निवेश किया है।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]