Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

सहार में मचा हा हा कार

मथुरा/सहार,14 जून 2022 (यू.टी.एन.)।  विकासखंड चौमुहां अंतर्गत सहार गाँव की बात है  जो अंग्रेजों के जमाने में तहसील रहा सहार आजादी के 75 वर्षों के बाद भी विकास से कोसों दूर है। सहार जैसा बड़ा गाँव हमेशा से उपेक्षा का शिकार रहा है। सहार में चुना जाने वाला हर जनप्रतिनिधि सिर्फ़ अपना स्वार्थ सिद्ध करता चला आ रहा है। गाँव की मासूम जनता हर बार प्रधानो के द्वारा ठगी जाती रही है।

गर्मी प्रारंभ होते ही गाँव में पेयजल संकट गहरा जाता हैं । पेयजल इस समय भी टाइम से नहीं आ रहा है आलम यह है कि गाँव की मासूम जनता के पीने के पानी के लिये दर दर की ठोकरें खा रही है। सहार पर  कोई सचिव तैनात नहीं है । भीषण गर्मी के बावजूद 24 घंटे में महज 5 या 6 घंटे के लिये ही बिजली आती है।

गाँव में हर तरफ गंदगी का अंबार है। नालियाँ गंदगी की वजह से बजबजा रही हैं।लोग खुले में शौच जाने के लिये बाध्य हैं। घातक मच्छरों के काटने से गाँव के काफी नागरिक,महिलायें व मासूम बच्चे बीमार हैं। वर्तमान प्रधान द्वारा गाँव मैं आज तक कोई भी कार्य नहीं हुआ है बावजूद गाँव बद् से बद्तर स्थिति में पहुँच गया है। सांसद और प्रधान ने मिलकर सहार को बर्बाद करके रख दिया है।

सचिव विष्णु शर्मा के जमाने में पूर्व प्रधान अजमल ने पिछले वित्तीय वर्ष में कुछ बोर करवाकर हैंड पंप लगवाये थे   सभी हैंडपंप खराब चल रहे है हो गये हैं। आम चुनाव को हुए एक साल से ज्यादा हो गया है परंतु प्रधान के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है प्रधान से लेकर सांसद तक सहार सभी की निगाह में है।क्योंकि सहार में वोटरों की संख्या अधिक है।लेकिन गाँव के लोग बिजली, गंदगी,बीमारी व पेयजल की गंभीर समस्या से जूझ रहे हैं। चुनाव के वक्त जनप्रतिनिधि बड़े बड़े वादे तो करते हैं किन्तु जीतने के बाद सब भूल जाते हैं ।

मथुरा- ब्यूरो चीफ,( रेखा शर्मा ) |  

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]