Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

भारतीय स्टार्टअप एलएक्सएमई को आधिकारिक प्लेटिनम जुबिली पैजन्ट कोमेमोरेटिव एल्बम में मिली जगह

नई दिल्ली, 07 जून 2022 (यू.टी.एन.)। भारत में महिला सशक्तिकरण के ध्वजवाहक के रूप में अपनी भूमिका का उदाहरण प्रस्तुत करने वाली, फिनटेक स्टार्टअप एलएक्सएमई को यूनाइटेड किंगडम की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के सम्मान में जारी आधिकारिक प्लेटिनम जुबली पैजन्ट कोमेमोरेटिव एल्बम में प्रदर्शित किया गया है। प्रतिष्ठित आधिकारिक प्लेटिनम जुबली पैजन्ट कोमेमोरेटिव एल्बम में महारानी के 70 साल के शासनकाल के इम्तहान और जीत को दर्शाया गया है। साथ ही, इसमें देश और राष्ट्रमंडल के कुछ चुनिंदा व्यक्तियों और संगठनों को भी शामिल किया गया है।

एल्बम ‘प्लैटिनम जुबली पैजन्ट कोमेमोरेटिव एल्बम’ को 5 जून, 2022 को यूके के जुबिली समारोह के चार दिवसीय बैंक अवकाश सप्ताहांत अंतर्गत लॉन्च किया गया था।

इस कार्यक्रम में आमंत्रित किए जाने वाले भारतीय उद्यमियों में से एक होने के नाते, फाइनेंशियल फेमिनिस्ट और एलएक्सएमई की संस्थापक, प्रीति राठी गुप्ता ने कंपनी का प्रतिनिधित्व किया और महिलाओं के लिए एक अद्वितीय मूल्य प्रस्ताव के निर्माण में नेतृत्वत्वकारी महिला के रूप में शानदार उदाहरण प्रस्तुत किया।

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय पूरी दुनिया में महिला नेतृत्व की प्रतीक हैं। विशेषकर ऐतिहासिक रूप से पुरुष प्रधान उद्योगों में अन्य महिलाओं की नेतृत्वकारी भूमिकाओं की सराहना इस पहल का मुख्य मकसद रहा।

इस उपलब्धि पर, एलएक्सएमई की संस्थापक, प्रीति राठी गुप्ता ने कहा, “भारतीय महिलाओं को सशक्त बनाने में हमारे द्वारा किए गए सभी प्रयासों और सही गई पीड़ाओं को वैश्विक स्तर पर स्वीकार किया जाना हमारे लिए बेहद सम्मान की बात है। एलएक्सएमई में, भारतीय महिलाओं के लिए वित्त को सरल बनाना और उन्हें इसका दायित्व लेने के लिए प्रोत्साहित करना हमारा प्रयास रहा है। यह वैश्विक मान्यता हमें वित्तीय और निवेश क्षेत्र में अधिक समानता, विविधता और समावेशन के लाभों को प्रदर्शित करने में सक्षम बनाएगी।”

70वीं वर्षगाँठ के उपलक्ष्य में प्रकाशित की जाने वाली इस एकमात्र आधिकारिक पुस्तक को प्रकाशक सेंट हेम्स हाउस द्वारा तैयार किया गया है। शाही लेखकों रॉबर्ट जॉब्सन और केटी निकोल इस पुस्तक को लिखा है जिसमें टॉम पार्कर बाउल्स ने अपना योगदान दिया है।

एलएक्सएमई का नाम धर्म और समृद्धि प्रदान करने वाली हिंदू देवी के नाम पर रखा गया है। यह भारत में वित्तीय लैंगिक असमानता को कम करने पर केंद्रित वुमैन-फर्स्ट वित्तीय मंच है। 2020 के मध्य में स्थापित, एलएक्सएमई महिलाओं के लिए वित्तीय मामलों को सरल बनाता है। इसने महिलाओं का एक संगठन बनाया है ताकि उन्हें इस कदर सक्षम बनाया जा सके जिससे वो आत्मविश्वास के साथ अपने आर्थिक मामलों को संभाल सकें और एक-दूसरे से सीखते हुए वित्तीय प्रगति कर सकें। एलएक्सएमई महिलाओं की एक शक्तिशाली टीम द्वारा चलाया जाता है, जिन्होंने प्रीति राठी गुप्ता के नेतृत्व में इसे अपने जीवन का मिशन बना लिया है।

एलएक्सएमई की संस्थापक प्रीति राठी गुप्ता ने 100,000 से अधिक महिलाओं को उनके वित्तीय सूझबूझ को बढ़ाने और उनकी छोटी बचत के वित्तीयकरण के लिए प्रेरित किया है। हार्वर्ड बिजनेस स्कूल के की पूर्व छात्र, सुश्री गुप्ता वाईपीओ में भारत के सबसे बड़े वित्तीय सेवा समूह में से एक, आनंद राठी की प्रबंध निदेशक जैसे नेतृत्वकारी पदों पर रह चुकी हैं और वह इश्का फिल्म्स की संस्थापिका हैं। वह बीएफएसआई उद्योग में दो दशकों के अनुभव के साथ कमोडिटी डेस्क, मुद्रा और विदेशी मुद्रा सलाहकार व्यवसाय स्थापित करने के लिए सम्मानित एक प्रतिष्ठित विशेषज्ञ हैं और अब महिलाओं और वित्त के बीच की खाई को पाटने के लिए प्रयासरत हैं।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]