Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

जिला पंचायत राज अधिकारी किरन चौधरी ने कहा वृक्ष का पालन भी अपनी संतान की तरह करें

मथुरा, 05 जून 2022 (यू.टी.एन.)। मथुरा पंचायती राज विभाग और पीरामल फाउंडेशन द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर ग्राम पंचायत भैंसा विकासखंड मथुरा मेंआयोजित पर्यावरण संरक्षण, सुरक्षा एवं बचाव पर कार्यक्रम आयोजित किये गए पर्यावरण दिवस पर कार्यक्रम में सैकड़ों की संख्या में मौजूद ग्राम वासियों और बच्चों को पानी, पेड़ और पर्यावरण के संरक्षण की शपथ दिलाई गई। प्रत्येक ग्राम वासी से एक पेड़ लगाने उसे बचाने की शपथ दिलाई गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रभागीय निदेशक वन विभाग रजनीकांत मित्तल उपस्थित रहे। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के तौर पर उपस्थित रहीं जिला पंचायत राज अधिकारी किरन चौधरी ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि वृक्ष आज के जीवन की सबसे महती आवश्यकता है।

 

वृक्षारोपण से हम अपने आसपास के वातावरण को शुद्ध कर सकते हैं उन्होंने कहा कि आज ग्लोबल वार्मिग की समस्या भयावह रूप से हमारे सामने खड़ी है, उसका सबसे बड़ा कारण यह है कि वृक्षों, वनों का कम होना। उन्होंने संदेश दिया कि हम लोगों को उसी तरह से पेड़ो को लगाना, उसका पालन करना होगा जिस तरह से माता-पिता अपने बच्चे का पालन करते हैं। एक वृक्ष 10 पुत्र के समान होता है। जिला पंचायत राज अधिकारी किरन चौधरी ने जल संरक्षण पर अपने विचार रखते हुए कहा कि जल हमारे जीवन का बहुमूल्य रत्न है। भगवान कृष्ण ने भी जल को बचाने के लिए ब्रज वासियों को संदेश दिया है, आप बृजवासी हैं और आप जल संरक्षण पर एक संदेश पूरे उत्तर प्रदेश को दें। जल है तो कल है, का संदेश देते हुए कहा कि पानी की एक-एक बूंद उतनी ही महत्वपूर्ण है जितना इंसान एक-एक सांस लेता है।

 

इंसान को ऑक्सीजन देने के लिए जिम्मेदार वृक्ष आज तेजी से कट रहे हैं, भविष्य की सुरक्षा के दृष्टिगत प्रत्येक गांव को सामूहिक अभियान चलाकर प्रकृति संरक्षण को सामूहिक जिम्मेदारी मानते हुए बरसात के समय में पेड़ लगाना होगा। और आगे निरंतर उसे बचाने की हर संभव कोशिश करनी पड़ेगी। तभी हम पर्यावरण को सतत और समृद्ध बना पाएंगे। यही समय है पर्यावरण संरक्षण के प्रति सजग और सचेत होने का। मुख्य अतिथि रजनीकांत मित्तल ने ग्राम वासियों को बताया कि तालाबों और जलाशय को सुरक्षित रखना, जीवित रखना हमारा दायित्व है। साथ ही प्रत्येक गांव यदि अपने गांव को सघन रूप से वृक्षारोपण कर हरा-भरा बना लेता है, तो गांव को कई खतरनाक बीमारियों ,रोगों से बच सकेगा। कार्यक्रम में बच्चों ने एक पेड़ लगाने का प्रण लिया, ग्राम वासियों ने गांव में बने हुए विशाल लक्ष्मीनारायण मंदिर परिसर में ईश्वर की शपथ लेते हुए,अपने गांव को सघन वृक्षारोपण कर हरा भरा बनाने की मुहिम शुरू करने की शपथ ली।

 

भैंसा गांव में चयनित अमृत सरोवर के किनारे अतिथियों द्वारा अशोक ,पीपल के पेड़ लगाकर पर्यावरण समृद्ध बनाने के अभियान की शुरुआत की गई। जिला पंचायत राज अधिकारी किरन चौधरी ने जनपद के समस्त प्रधान गण से अपील की, कि बरसात शुरू होते ही प्रधान गण अपनी ग्राम पंचायत में किसान भाइयों  के साथ बैठक कर एवं राजस्व विभाग के साथ, वृक्षारोपण हेतु जमीन का चयन करें तथा गड्ढे की खुदाई भी करा लें। और प्रत्येक गांव में किसानों की टोली बनाकर बरसात के मौसम में वृक्षारोपण अभियान शुरू किया जाएगा। और उसकी प्रत्येक सप्ताह ग्राम प्रधान एवं सचिव द्वारा समीक्षा भी की जाएगी। तेजी से बढ़ता हुआ तापमान भविष्य के संकट की तरफ इशारा कर रहा है। अतः सही समय है सजग और सचेत होने का। पानी पेड़ और पर्यावरण को सुरक्षित, समृद्ध बनाने का। बच्चों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से ग्राम वासियों को पर्यावरण के प्रति जागरूक किया।

 

ग्राम प्रधान और सचिव ने प्रत्येक सप्ताह पेड़ों की समीक्षा करने एवं अपने गांव को पर्यावरण मैत्री गांव बनाने की प्रतिबद्धता भी जताई। कार्यक्रम में उपस्थित पीरामल फाउंडेशन मैनेजर श्री दुर्गा नंद के कार्यों की जिला पंचायत राज अधिकारी ने प्रशंसा की तथा उनसे जनपद के अन्य 50 ग्राम पंचायतों में वाटर एटीएम और रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाने की अपील भी की जिला पंचायत अधिकारी किरन चौधरी ने कहा कि सामाजिक संस्थाएं पर्यावरण संरक्षण एवं जल संरक्षण में बढ़-चढ़कर भाग ले। कार्यक्रम में ग्राम प्रधान भैंसा, सचिव लवी बंसल और बड़ी संख्या में ग्राम वासी उपस्थित रहे।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]