Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

प्रशासन मूक दर्शक बन कर रहा हादसों का इंतजार

पंचकूला, 31 मई 2022 (यू.टी.एन.)। पंचकुला प्रशासन मूक दर्शक बन कर रहा हादसों का इंतजार। चंडीमंदिर से मोरनी रोड पर साथ लगती घग्गर और कौशल्या नदी पर हालात बद से बदतर हो रहे है। यहां आए रोज बच्चों से लेकर बड़ो तक अपनी जान माल की परवाह किये बगैर नदी में घूमते दिख रहे है।इस रोड पर खुलेआम चलती है पार्टियां।पिछले कुछ दिनों में यहाँ काफी हादसे भी देखने को मिले है। अगर नजर डाले यहां के हालातों पर तो यहां लड़कों के साथ साथ लड़कियां भी  खुले में जाम टकराते दिख जाएंगी। वही अगर बात करे प्रशासन और पुलिस प्रशासन की तो कहने को पुलिस प्रशासन द्वारा लगातार इस और दावे किए जाते रहे हैं। खुले में शराब पीने वालो पर कारवाई और आवारा गर्दी पर शिकंजा कसने के।
लेकिन यहां के हालात इतने बदहाल खुद ब खुद पुलिस प्रशासन के दावों की पोल खोल रहे है और इस प्रकार खुलेआम छलकते हुवे जाम कहीं न कहीं पुलिस प्रशासन की मिलीभगत की और भी इशारा  कर रहे है। निजी स्वार्थ में अंधे होकर हम जीवन देने वाली नदियों के जीवन के साथ ही खेलने लगे। पंचकुला में कल-कल बहने वाली इन नदीयो का पानी यहां लोगों द्वारा गंदगी डाल कर गन्दा किया जा रहा है।नदियां हरियाली व खुशहाली का प्रतीक मानी जाती रही है। जिन क्षेत्रों से होकर नदियां गुजरती है उसके आस-पास के गांव के लोग पूरे साल हरियाली का आभास करते रहे है। खेती के साथ रोजमर्रा के जीवन में हर घर का जुड़ाव नदियों से रहता था।  लेकिन यहां पिछले एक दशक में ही तस्वीर बदल गई है। यहां ये नदियां सिर्फ गंदगी के ढेर और जाम छलकने का अड्डा बनकर रह गयी है।
हरियाणा-स्टेट ब्यूरो, (सचिन बराड़)।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]