Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

सीएमओ ऑफिस में नही है झोलाछाप डॉक्टरों का कोई रिकॉर्ड

कासगंज, 24 मई 2022 (यू.टी.एन.)। जिले में मंगलवार को अपर निदेशक डॉ. बी. के सिंह द्वारा सीएमओ कार्यालय का स्थलीय निरीक्षण कर व्यवस्था परखी गई। निरीक्षण के दौरान कार्यालय में बहुत कमियां पाई गई, इस दौरान सीएमओ ऑफिस में झोलाछाप डाक्टरों का कोई रिकॉर्ड न मिलने से झोलाछाप डॉक्टरों पर की जाने वाली कार्यवाही पर प्रश्नचिन्ह लग गया। निरीक्षण के दौरान अपर निदेशक डॉ. बी के सिंह ने बताया कि कार्यालय की टॉयलेट में गंदगी है और टॉयलेट में पानी नहीं है, आर ओ काम नहीं कर रहे। कार्यालय में ब्लीचिंग पाउडर की 16 बोरियाँ शौचालय में पाई गई। पता चला कि जिला मलेरिया अधिकारी द्वारा ब्लीचिंग पाउडर की बोरियाँ शौचालय में रखवाई गई  हैं।
इसके साथ ही परिसर में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मानसिक कार्यक्रम व तम्बाकू नियंत्रण आईसी मेटेरियल के 35 बंडल मिले। निरीक्षण के दौरान एसीएमओ व नोडल अधिकारी डॉ. अवनीन्द्र कुमार द्वारा कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया गया। जिस पर जाँच हेतु डॉ. देवेंद्र कुमार वार्ष्णेय को निर्दश दिए गए हैं। डॉ. देवेंद्र वार्ष्णेय द्वारा जाँच के बाद दोषी पाए जाने पर कार्यवाही की जाएगी।
निरीक्षण के दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी अधीन कार्यरत स्टेनो संजय कुमार द्वारा सम्पादित किए जाने वाले कार्यों का परीक्षण किया गया, जिसमें चिकित्सा प्रतिपूर्ति संबंधी अभिलेख क्रमबद्ध व सुव्यवस्थित नहीं पाए गए, झोलाछाप की पत्रावली भी उपलब्ध नहीं कराई गई, जिससे स्वास्थ्य विभाग द्वारा झोलाछाप डॉक्टरों पर की जाने वाली कार्यवाही पर प्रश्नचिन्ह लग गया। अपर निदेशक ने बताया डाक डिस्पेच का कार्य अनुराग अस्थाना द्वारा सम्पादित किया जा रहा है। डाक टिकट क्रय किए जाने में पूर्णतः नियम का पालन नहीं किया जा रहा है। अनुराग अस्थाना द्वारा निजी रूपये से डाक टिकट क्रय किए जा रहे हैं।
कासगंज- रिपोर्टर,सौरभ गुप्ता  |

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]