Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

शनिधाम मुड़ैसी में 561 किलोग्राम तेल से हुआ शनैश्चरी अमावस्या पर शनिदेव का अभिषेक

मथुरा। शनैश्चरी अमावस्या शनिवार को भक्तिभाव से मनायी गयी। भक्तों ने मंदिरों में शनिदेव का सैंकड़ों किलों सरसों के तेल से अभिषेक किया। अकेले सिद्ध शनिधाम मुडेसी में 561 किलोग्राम तेल से आराध्य का अभिषेक किया गया। इस मौके पर हनुमान जी के विग्रहों पर चोला चढ़ाया गया। सांध्य वेला में मंदिरों में फूल बंगला सजाए और दीप प्रज्ज्वलित किये गये। अमावस्या पर स्नान, दर्शन, दान, परिक्रमा, गो व जरूरतमंद की सेवा का शुभारंभ ब्रह्म मुहूर्त से ही शुरू हो गया। भक्तों यमुना में डुबकी लगाई और कालिंदी का पूजन किया। आराध्य के मंदिर में दर्शन किए। सिद्ध शनिधाम मुड़ेसी में महंत विजयानन्द सरस्वती के नेतृत्व, आचार्यत्व व निर्देशन में सिंगापुर से पदयात्रा कर लाई गई शनिदेव शिला का 561 किलोग्राम सरसो के तेल से अभिषेक किया गया।

 

स्वामी नानक गिरी ने बताया कि 150 वर्ष बाद अश्वनी नक्षत्र में शनिश्चरी अमावस्या का योग बना है। यह विशेष पर्व है। महंत, गिरी एवं अन्य सैकड़ों पुरुष भक्तों ने अर्द्ध नग्न होकर र्द्ध सरसो तेल से अभिषिक्त पर काला कपड़ा, काले तिल, लोहा, धूप, दीपक, द्रव्य किए समर्पित। हवन हुआ। महिलाओं ने नीचे से किया पूजन, दर्शन, वंदन। महिला-पुरुष, बच्चों ने परिक्रमा कर कमाया पुण्य। दोपहर में पूड़ी, दही, बूंदी, सब्जी, मिष्टान्न, फल, चनौरी, चना, चिरवा आदि का भोग लगाया। सैंकड़ों ने छका प्रसाद। उत्सव में यूपी, राजस्थान, हरियाणा, मध्यप्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली आदि के भक्तों का लगा तांता। भक्त महावीर बिधूड़ी ने शादी की वर्षगांठ पर किया भंडारा। नवीन अग्रवाल, डॉ. देवेंद्र कुमार, राकेश अग्रवाल, दयाशंकर यादव, बिजेंद्र, रामवीर आदि ने सेवा की।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]