Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

स्पाइस मनी और रेलिगेयर ब्रोकिंग की साझेदारी से एलआईसी आईपीओ पहुंचेगा 10 करोड़ ग्रामीण परिवारों तक

दिल्ली,29 अप्रैल 2022 (यू.टी.एन.)। भारत के बैंकिंग के तरीके में क्रांति ला रही भारत की अग्रणी ग्रामीण फिनटेक कंपनी, स्पाइस मनी ने आज ग्रामीण नागरिकों को मेगा एलआईसी आईपीओ के लिए आवेदन करने में सक्षम बनाने के लिए रेलिगेयर ब्रोकिंग लिमिटेड (आरबीएल) के साथ भागीदारी करने की घोषणा की है। यह अपनी तरह का पहला निवेश अवसर है। इस एसोसिएशन के द्वारा, रेलिगेयर ब्रोकिंग और स्पाइस मनी का उद्देश्य, ग्रामीण नागरिकों को निवेश के अवसरों तक समान पहुंच प्रदान करना है, जिससे ग्रामीण और शहरी विभाजन में कमी आए और वित्तीय समावेशन को बढ़ाने में सफलता मिले। इसके अलावा, यह एसोसिएशन 95% से ज़्यादा ग्रामीण पिन कोड तक के लोगों को भविष्य में आर्थिक मज़बूती देने के लिए इक्विटी, म्यूचुअल फंड, कमोडिटी, करंसी और एनपीएस जैसे कैपिटल मार्किट से जुड़े अवसरों में निवेश करने के लिए सहायक फिजिटल प्लेटफॉर्म तक पहुंच प्राप्त करने की सुविधा उपलब्ध कराएगा।
यह बिज़नेस पार्टनरशिप ग्रामीण क्षेत्र में बाज़ार के नए निवेशकों को बड़े पैमाने पर वित्तीय समावेशन और वित्तीय स्वतंत्रता के लिए आगे का अवसर प्रदान करेगा। रेलिगेयर ब्रोकिंग मौजूदा समय में देश के 400+ शहरों में 1100+ शाखाओं और बिज़नेस पार्टनर्स के अपने पैन इंडिया नेटवर्क के माध्यम से 10 लाख से अधिक डीमैट ग्राहकों को सेवा दे रहा है। दूसरी ओर, स्पाइस मनी एक जानी-मानी ग्रामीण फिनटेक कंपनी है, जिसके 10 लाख से अधिक व्यापारी (जो कि स्पाइस मनी अधिकारी कहलाते हैं) का व्यापक नेटवर्क है, जो भारत के भीतरी क्षेत्रों के 700+ जिलों में 10 करोड़ से अधिक परिवारों को अपनी डिजिटल सेवाएं प्रदान करता है। इस प्रकार, रेलिगेयर ब्रोकिंग और स्पाइस मनी के बीच इन्वेस्टमेंट सर्विसेज़ की साझेदारी से ग्रामीण भारत को डीमैट अकाउंट तक सीधी और सहायक पहुंच प्राप्त करने और कैपिटल मार्केट से जुड़े उत्पादों में निवेश करने में सुविधा मिलेगी।
नए जमाने की प्रौद्योगिकी कंपनियां अग्रणी हैं, जिसके चलते भारत ने दो दशकों में “सर्वश्रेष्ठ आईपीओ ईयर” (2021) का रिकॉर्ड बनाया है, इसके बावजूद जागरूकता और सहायता की कमी के कारण देश के ग्रामीण हिस्सों से निवेशकों का प्रतिशत बेहद कम रहा है। स्पाइस मनी के सबसे समावेशी और तेज़ी से विकास करने वाले विश्वसनीय समुदाय, यानी इसके 10 लाख अधिकारी, जिन्हें सम्मानित बैंकों के प्रतिनिधि के तौर पर देखा जाता है, ऐसे ग्रामीण नागरिकों की सहायता के लिए वन पॉइंट कांटेक्ट के रूप में कार्य करेंगे, जो एलआईसी शेयरों में निवेश तो करना चाहते हैं, लेकिन यह नहीं जानते कि कहां से शुरू करें। स्पाइस मनी अधिकारी उन्हें डीमैट अकाउंट खोलने और एलआईसी आईपीओ के लिए आवेदन करने और भविष्य में अन्य उत्पादों में निवेश करने में सहायता करेंगे।
स्पाइस मनी के सह-संस्थापक और सीईओ संजीव कुमार का कहना है, “देश के सबसे बड़े आईपीओ को भारत के भीतरी इलाकों में ले जाने के लिए रेलिगेयर ब्रोकिंग के साथ साझेदारी करके हम बहुत ख़ुश हैं। स्पाइस मनी के जरिए हम देश के लिए वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने के मिशन पर हैं और यह साझेदारी ग्रामीण नागरिकों के लिए भविष्य में मेगा आईपीओ और अन्य कैपिटल मार्केट से जुड़े उत्पादों में हमारे मार्केटप्लेस प्लेटफॉर्म के माध्यम से भाग लेने का अवसर प्रदान करेगी। एलआईसी जैसे देश के सर्वाधिक विश्वसनीय ब्रांड के आईपीओ तक पहुंच बनाने से ग्रामीण नागरिकों को निवेश के उन अवसरों के बारे में भी जानकारी हासिल करने में मदद मिलेगी, जिनसे वे अब तक अनजान थे।”
संजीव ने यह भी कहा कि “अधिकांश ग्रामीण परिवार के लोगों में फ़ाइनेंशियल लिटरेसी बहुत कम या बिल्कुल नहीं है और अधिकांश लोग अपना पैसा बैंकों में जमा रखना पसंद करते हैं। नतीजन उन्हें कम ब्याज दर के साथ ही संतोष करना पड़ता है, जबकि कैपिटल मार्केट में स्मार्ट इन्वेस्टमेंट करके अपनी संपत्ति बढ़ाने का बड़ा मौका मिलता है। अवसरों का लाभ उठाने से न केवल ग्रामीण नागरिकों के वित्तीय विकास में मदद मिलेगी, बल्कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था के पुनरोद्धार में भी सहायता मिलेगी। यह 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने और आत्मानिर्भर भारत बनाने के देश के लक्ष्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। यह साझेदारी लोगों को आर्थिक रूप से स्वतंत्र बनाने के आपसी तालमेल को साझा करती है। डिजिटल और टेक्नोलॉजिकल इनोवेशंस को आगे बढ़ाते हुए स्पाइस मनी का लक्ष्य सभी ग्रामीण वित्तीय जरूरतों के लिए वन स्टॉप प्लेटफॉर्म बनना है।”
पार्टनरशिप की घोषणा के दौरान रेलिगेयर ब्रोकिंग के सीईओ नितिन अग्रवाल ने कहा, “हम स्पाइस मनी के साथ हाथ मिला कर बहुत खुश हैं। एलआईसी आईपीओ के रूप में एक बड़ा अवसर नए निवेशकों और इसके पॉलिसी होल्डर्स का इंतजार कर रहा है। रेलिगेयर और स्पाइस मनी संयुक्त रूप से ग्रामीण भारत के फ़ाइनेंशियल इन्क्लूजन मॉडल को बनाने, मानव सहायता के साथ नए युग की तकनीक के संयोजन और घर-घर डीमैट अकाउंट लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। स्पाइस अधिकारियों की मदद से, आईपीओ में निवेश करने के इच्छुक सभी निवेशक ऐप पर एक डीमैट अकाउंट खोल सकते हैं और इन्वेस्टमेंट प्रोडक्ट्स की बड़ी श्रृंखला में इन्वेस्ट के लिए सही चुनाव कर सकते हैं।”
रेलिगेयर ब्रोकिंग के सीओओ गुरप्रीत सिदाना ने कहा ”सिम्पलीफाईड इन्वेस्टमेंट जर्नी और इनोवेटिव सर्विसेज़ के अपने वादे को बरकरार रखते हुए, इस बार हम सबसे सस्ता डीमैट अकाउंट खोलने के लिए स्पाइस मनी के साथ बड़े पैमाने पर फिजिटल DIY सुविधा का निर्माण कर रहे हैं। जनता सहित बाजार में नए ग्राहकों के लिए, रेलिगेयर ब्रोकिंग ने हाल ही में नई पेशकश की घोषणा की है, जो डिलीवरी ट्रेडों पर शून्य ब्रोकरेज, गैर-लाभकारी इंट्राडे ट्रेडों पर ज़ीरो ब्रोकरेज और 5 रुपये प्रति लॉट पर ऑप्शंस ट्रेडिंग प्रदान करती है। हमारे DIY अकाउंट खोलने की जर्नी और ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म अत्याधुनिक नई तकनीक और सरलीकृत ट्रेडिंग अनुभव द्वारा समर्थित हैं। टिकट के आकार या स्थान के बावजूद, एक निवेशक कैपिटल मार्केट से जुड़े अवसरों में सहज और किफायती रूप से भाग ले सकता है।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]