Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

ईट राइट इंडिया मूवमेंट के सहयोग से हर्बालाइफ न्यूट्रीशन ने आयोजित किया ईट राइट फूड समिट 2022

नई दिल्ली, 27 अप्रैल 2022 (यू.टी.एन.)। एक प्रमुख वैश्विक पोषण कंपनी, हर्बालाइफ न्यूट्रीशन ने दिल्ली में ईट राइट फूड समिट 2022 आयोजित किया। इस रणनीतिक मंच पर सरकार, राजनीति और निजी क्षेत्र के हितधारकों को एक स्वस्थ भविष्य हेतु एजेंडा निर्धारित करने के लिए एक साथ लाया गया। ईट राइट इंडिया अभियान का उद्देश्य खाद्य दुकानों के बुनियादी ढांचे को उन्नत करके और खाद्य संचालकों व ग्राहकों की जागरूकता और कौशल को बढ़ाकर सुरक्षित, स्वस्थ और पौष्टिक आहार विकल्पों को बढ़ावा देना है। इस पहल पर टिप्पणी करते हुए, अजय खन्ना, सीनियर वाइस प्रेसीडेंट और इंडिया कंट्री हेड, हर्बालाइफ न्यूट्रिशन ने कहा, “एक कंपनी के रूप में, हम अपने अभियान ईट राइट पर काम करने के लिए गौरवान्वित महसूस करते हैं।
जो भारत सरकार की राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति 2017 के निवारक और प्रोत्साहक स्वास्थ्य देखभाल तथा फ्लैगशिप कार्यक्रमों पर ध्यान केंद्रित करने के अनुरूप है। हम एक स्वस्थ जीवन शैली और पोषण में विश्वास करते हैं और यह भारत को स्वस्थ बनाने के लक्ष्य की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। इस पर अपने विचार साझा करते हुए भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण के सीईओ श्री अरुण सिंघल ने कहा, “पिछले कुछ वर्षों में, एफएसएसएआई ने सभी भारतीयों के लिए सुरक्षित और पौष्टिक भोजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए एक खाद्य प्रणाली दृष्टिकोण अपनाकर नियामक भूमिका का प्रदर्शन किया है। ईट राइट इंडिया को हर समय हर किसी के लिए सुरक्षित, स्वस्थ और टिकाऊ आहार सुनिश्चित करके देश की खाद्य प्रणाली को बदलने के लिए एक राष्ट्रीय आंदोलन के रूप में पहचाना जाता है।
यह न केवल अब तक प्राप्त सफलता का जश्न मनाने का एक तंत्र है, बल्कि हम सभी के लिए एक स्वस्थ कल के लिए अभिनव समाधानों के साथ सोचने और विचार-विमर्श करने के लिए एक साझा मंच भी है। इस तरह के शिखर सम्मेलन और मंचों का उद्देश्य भविष्य का रोडमैप बनाने के लिए हितधारकों द्वारा निर्देशित खुले संवाद के माध्यम से सहयोग को मजबूत करना है। चालीस परिसरों में जहां हर्बालाइफ न्यूट्रिशन ईट राइट अभियान के कार्यान्वयन को सपोर्ट कर रहा है, उनमें राज्य सचिवालय, इसरो परिसर, पुलिस प्रशिक्षण केंद्र, वायु सेना शिविर, विश्वविद्यालय, कॉलेज और रेलवे स्टेशन शामिल हैं। हर्बालाइफ न्यूट्रिशन ने स्वस्थ जीवन के हिस्से के रूप में सही खाने के महत्व के बारे में व्यक्तियों को शिक्षित करने में मदद करने के लिए देश भर में जागरूकता कार्यक्रम चलाए हैं।
दिसंबर 2021 से शुरू होने वाले इस प्रोजेक्ट में पहले ही 17 मास कैंटीन शामिल हो चुकी हैं। जिन परिसरों को पहले ही प्रमाणित किया जा चुका है, उनमें हुबली रेलवे स्टेशन, मदुरै में केंद्रीय जेल और भारत-तिब्बत पुलिस बल, कलेक्टर कार्यालय, पुणे में आईएएस अकादमी, इसरो परिसर आदि शामिल हैं। यह दर्शाता है कि इस पहल का उद्देश्य व्यापक सार्वजनिक पहुंच है। एक पायलट के रूप में, हर्बालाइफ ने 2021 में ईट राइट जागरूकता कार्यक्रमों को लागू करने के लिए बेंगलुरु और मैसूर को चुना। प्रमुख वक्ताओं को शामिल करके और बेंगलुरु में सोशल मीडिया एवं रेडियो चैनलों के माध्यम से प्रचारित करके सुरक्षित, स्वस्थ और संतुलित भोजन के बारे में सूचित करने के लिए जागरूकता वीडियो की एक श्रृंखला विकसित की गई, जो लाखों नागरिकों को प्रभावित कर रहे हैं। ईट राइट फूड समिट भविष्य का रोडमैप बनाने के लिए हितधारकों के बीच सहयोग और खुले संवाद को मजबूत करने के लिए एक महत्वपूर्ण मंच था।
हर्बालाइफ के बारे में………………..
हर्बालाइफ न्यूट्रिशन (एनवाईएसई: एचएलएफ) एक वैश्विक कंपनी है जो 1980 से अपने स्वतंत्र वितरकों के लिए महान पोषण उत्पादों और एक व्यावसायिक अवसर के साथ लोगों के जीवन को बदल रही है। कंपनी उद्यमशील वितरकों के माध्यम से 95 बाजारों में उपभोक्ताओं को विज्ञान-समर्थित उत्पाद प्रदान करती है। जो वन-ऑन-वन कोचिंग और एक सहायक समुदाय के जरिए अपने ग्राहकों को एक स्वस्थ, अधिक सक्रिय जीवन शैली अपनाने के लिए प्रेरित करती है। लोगों, समुदायों और ग्रह का पोषण करने के लिए कंपनी की प्रतिबद्धता के माध्यम से, हर्बालाइफ न्यूट्रिशन ने अपनी 50 वीं वर्षगांठ पर 2030 तक 50 मिलियन सकारात्मक प्रभाव – अच्छाई के कार्य – का लक्ष्य प्राप्त करने का वचन दिया है।
नई दिल्ली – रिपोर्टर, (सुनीत नरूला)।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]