Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

फौजी की मिजोरम में हुई मौत, गांव पहुंचा पार्थिव शरीर

मथुरा,24 अप्रैल 2022 (यू.टी.एन.)।  जिले के राया गांव के नीरज पुत्र रामभरोसे की मिजोरम में सेना पुलिस में तैनाती थी। उसकी 19 अप्रैल को ड़्यूटी के दौरान मौत हो गई। इसकी सूचना मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। शुक्रवार सुबह उसका पार्थिव शरीर लेकर सेना की टुकड़ी गांव पहुंची तो ग्रामीणों ने जब तक सूरज चांद रहेगा, नीरज तेरा नाम रहेगा जैसे नारों से उसके अंतिम संस्कार में हिस्सा लिया।
परिजन और ग्रामीणों ने सैन्य अधिकारियों से नीरज को शहीद का दर्जा दिलाने की मांग कर अंतिम संस्कार से मना कर दिया और हंगामा शुरू कर दिया। इससे प्रशासन में हड़कम्प मच गया। आनन-फानन में कई थानों के फोर्स के साथ एसडीएम मांट नन्दन सिंह, तहसीलदार मनीष कुमार, क्षेत्राधिकारी महावन रविकांत पराशर, थानाध्यक्ष प्रवीण कुमार मिश्र, एसएसआई शिवकुमार शर्मा, बीडीओ प्रभात रंजन शर्मा आदि मौके पर पहुंच गए।
थोड़े समय बाद ही विधायक राजेश चौधरी भी पहुंच गए। उन्होंने परिजनों को काफी समझाने का प्रयास किया लेकिन ग्रामीण अपनी मांग पर अड़े रहे। उन्होंने मथुरा-अलीगढ़ मार्ग पर जाम लगाने का भी प्रयास किया। बाद में मिजोरम से शव के साथ आये सैन्य अफसर डीके सक्सेना ने परिजनों से वार्ता कर मामले की जांच के बाद शहीद का दर्जा दिलाये जाने का भरोसा दिलाया। तब नीरज का सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार हुआ।
मथुरा, रिपोर्टर-(अबेद अली) |

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]