Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

अक्षय पात्र और हुवैई ने 9,130 फैमिली हैप्पीनेस किट्स वितरित करने के लिये साझेदारी की

नई दिल्ली, 19 अप्रैल 2022 (यू.टी.एन.)। छह सालों की सफल साझेदारी के साथ, हुवैई इंडिया और अक्षय पात्र फाउंडेशन भूख और कुपोषण के खिलाफ अपने साझा संघर्ष को आगे बढ़ा रहे हैं। इन दोनों ने मिलकर 9,130 फैमिली हैप्पीनेस किट्स वितरित करने की योजना बनाई है। हर किट को चार सदस्यों वाले एक परिवार को 120 मील्स मुहैया कराने के साथ, खानपान की स्थानीय आदतों को ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया है। हुवैई और अक्षय पात्र की साझेदारी 2016 में स्कूल के मध्याह्न भोजन कार्यक्रम का समर्थन करने के लिये शुरू की गई थी और तब से इन्‍होंने महामारी के दो वर्षों के दौरान समाज के वंचित वर्ग को सूखा राशन किट प्रदान करने के अपने दायरे को बढ़ाया है। अभी तक, एक साथ मिलकर इन्होंने दिल्ली एनसीआर, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में संयुक्त रूप से लगभग 73.9 लाख मील्‍स परोसे हैं।
इस साझेदारी को देखते हुए, श्री श्रीधर वेंकट, सीईओ, अक्षय पात्र फाउंडेशन ने कहा, “हमारा यह दृढ़ विश्वास है कि समाज की भलाई के लिये हमारे साझा प्रयास एक प्रभावी और कुशल सेवा प्रदान करने की कुंजी हैं। पिछले कई सालो में, अक्षय पात्र की पहल को सहयोग और साझेदारी से सशक्त बनाया गया है। ऐसी ही महत्वपूर्ण साझेदारी हुवैई इंडिया के साथ की गई है। हम सही मायने में इतने सालों के सहयोग के लिये हुवैई की सराहना करते हैं और उनका आभार व्यक्त करते हैं। हमारी साझेदारी सरकारी स्कूलों के बच्चों की क्लासरूम हंगर को दूर करने क लिये मध्याह्न भोजन उपलब्‍ध कराने की है। महामारी के दौरान खाद्य राहत प्रयासों में उनके सहयोग से वंचित समुदायों के कई लोगों के जीवन में महत्वपूर्ण बदलाव लाने में मदद मिली। हमें उम्मीद है कि हुवैई इंडिया के साथ हमारी साझेदारी आगे बढ़ती रहेगी और ज्यादा से ज्यादा लोगों की जिंदगी पर प्रभाव डालती रहेगी।”
इस साझेदारी के बारे में, हुवैई इंडिया के सीईओ डेविड ली ने कहा, “एक जिम्मेदार कॉरपोरेट नागरिक होने के नाते, हुवैई समाज के स्थायी विकास में योगदान देने के लिये प्रतिबद्ध है। जरूरतमंद समुदायों को सहयोग करने के ट्रैक रिकॉर्ड के अनुरूप मौजूदा हालातों ने इस साझेदारी को और भी जरूरी बना दिया। अक्षय पात्र फाउंडेशन के साथ छह सालों की लंबी साझेदारी ने संयुक्त रूप से क्लासरूम हंगर को दूर कर बच्चों में कुपोषण की समस्या को हल करने की दिशा में काम किया है। महामारी के आने से, ग्रॉसरी किट के साथ समाज के वंचित वर्गों को सहयोग करने के लिये हमने अपनी साझेदारी का विस्तार किया है। चूंकि, हम यहां तक पहुंचे हैं तो हम आगे भी भारत में पहलों और प्रोजेक्ट्स के साथ कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलटी पहल को जारी रखेंगे जोकि भारतीय समाज और उद्योग को लाभ पहुंचाएंगे।”
स्कूल मिड-डे मील और फैमिली हैप्पीनेस किट के अलावा, हुवैई की ओर से खाद्य वितरण करने वाले वाहनों और किचन के बर्तनों और इंफ्रास्ट्रक्चर को भी सपोर्ट किया गया है। 2020 में वैश्विक महामारी की पहली लहर के दौरान, इस साझेदारी के तहत प्रभावित परिवारों को 40 लाख से अधिक राहत भोजन और 8,333 किराना किट प्रदान किए गए। 2016 और 2019 के बीच, हुवैई और अक्षय पात्र ने स्कूल जाने वाले बच्चों को लगभग 60 लाख मध्याह्न भोजन परोसने वाली मध्याह्न भोजन योजना के लिये भी सहयोग किया।
अक्षय पात्र फाउंडेशन पिछले 21 वर्षों से 13 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों में अपनी 60 रसोई के माध्यम से बच्चों और मानवता की सेवा करने की दिशा में अपने सभी प्रयासों को मजबूत कर रहा है। इसके अलावा, महामारी के दौरान, एनजीओ ने कदम बढ़ाया और यह सुनिश्चित किया कि भले ही बच्चे स्कूल न आएं, पर वे खाली पेट न सोएं। अब तक, अक्षय पात्र ने वायरस के प्रकोप से प्रभावित लोगों को कुल 21.4 करोड़ मील्‍स परोसे हैं।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]