Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

गोवर्धन क्षेत्र के देहात के किसान ने  जैविक खाद से काले गेहूं की पैदावार 

गोवर्धन, 02 अप्रैल 2022 (यू.टी.एन.)। भारत कृषि प्रधान देश है और कृषि में निरंतर नई तकनीकी और गुणवत्ता पर कृषि विभाग और सरकार द्वारा भी तमाम अनुसंधान समय-समय पर किए जाते हैं जिससे देश में कृषि क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव लाई जा सके और किसानों का जीवन बेहतर बनाया जा सके इसी क्रम में गोवर्धन के सोंख क्षेत्र से तसिया गांव के रहने वाले किसान वीरपाल द्वारा दावा किया गया है कि वह मध्य प्रदेश से गेहूं की ऐसी किस्म लेकर आए हैं जो बिना रासायनिक खाद के पैदा होती है और जिसका रंग काला होता है लेकिन यह सामान्य गेहूं से अधिक फायदेमंद है डायबिटीज और ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियों में इसका सेवन करने से रोगों में आराम मिलता है गेहूं की फसल का पौधा लगभग 4 फुट तक का होता है.

अभी पहले वर्ष उन्होंने गेहूं के साथ गन्ने और आलू की फसल भी लगाई है और इसकी पैदावार अच्छी होने पर वह अधिक मात्रा में अपने खेतों में इसकी फसल लगाएंगे वहीं उन्होंने क्षेत्र के किसानों से कहा कि आज के समय में रासायनिक खाद्य द्वारा पैदा फसलों से लोगों के जीवन पर दुष्प्रभाव पड़ रहा है इससे बचने के लिए लोगों को ऐसी प्रयोग करने चाहिए और अगर हमारे क्षेत्र के किसान गेहूं की पैदावार के लिए बीज मंगवाना चाहते हैं तो उसके लिए मध्यप्रदेश से वह यहां उपलब्ध कराने के लिए भी तैयार है.
मथुरा-रिपोर्टर, ( रेखा शर्मा ) |

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]