Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

शिक्षा के पाठ्यक्रम में भागवत गीता को शामिल करना चाहिए – दिनेश शर्मा

मथुरा,02 अप्रैल 2022 (यू.टी.एन.)। कृष्ण जन्म भूमि से ईदगाह को हटाने वाले केस के मुख्य वादी और कट्टर हिंदूवादी नेता दिनेश शर्मा ने बताया भारत की शिक्षा जगत में जो पाठ्यक्रम चल रहा है उसमें भागवत गीता को शामिल करना चाहिए। दिनेश शर्मा ने प्रधानमंत्री मोदी जी को पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि शिक्षा के पाठ्यक्रम में मुस्लिम शासकों का गुणगान किया गया है और सनातन धर्म से संबंधित ग्रंथों का जिक्र नहीं है। मुस्लिम शासकों का जो गुणगान किया गया है वह बहुत बड़ा चढ़ाकर पेश किया है जबकि असली ज्ञान भागवत गीता से ही संभव है। भागवत गीता को पूरा विश्व मानता है। इसलिए भागवत गीता को भारतीय शिक्षा पद्धति में शामिल किया जाना चाहिए। जिससे छात्रों में आध्यात्मिक ज्ञान की वृद्धि होगी।

जिन मुस्लिम शासकों को महान बताया गया है उनके महान कार्यों का कोई सबूत नहीं है। दिनेश शर्मा ने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अच्छा कार्य करेंगे और पिछले 5 वर्षों में शिक्षा जगत में मूलभूत सुधार हुए हैं। अब देश सुरक्षित हाथों में है, कृष्ण जन्मभूमि केस के मुख्य वादी श्री दिनेश शर्मा ने बताया कि वह मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश से भी बात करेंगे और शिक्षा से संबंधित सुधार के लिए अनुरोध करेंगे। उन्होंने उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार बनने की बधाई दी।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]