Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu
Hindi English Marathi Gujarati Punjabi Urdu

केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री के बयान के मुताबिक, एक टोल प्लाजा हटाया जाएगा

पंचकूला,( सचिन बराड़) शिमला तक हिमाचल प्रदेश में वैसे तो बहुत ही कम टोल प्लाजा हैं । लेकिन शिमला से चंडीगढ़ बाईपास चंडीमंदिर आने जाने वालों के लिए राहत भरी खबर है। केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी की घोषणा से अब वाहन चालकों को राहत मिलेगी। नितिन गडकरी ने लोकसभा में बयान दिया है कि कोई भी टोल प्लाजा 60 किलोमीटर से कम के दायरे में नहीं हो सकता है और 60 किलोमीटर से कम दूरी के सभी टोल नाके खत्म किए जाएंगे।

दरअसल, चंडीगढ़ से शिमला की दूरी 115 किलोमीटर है और चंडीगढ़-कालका-शिमला हाईवे पर दो टोल प्लाजा हैं। चंडीगढ़ से शिमला जाने वाले हाईवे पर पंचकूला के चंडीमंदिर में पहला टोल प्लाजा है। इसके बाद दूसरा टोल प्लाजा सोलन जिले के धर्मपुर एरिया के नजदीक सनवारा में है। यहां पर फिर दौबारा चालकों को टोल चुकाना पड़ता है।लेकिन चंडीमंदिर टोल प्लाजा से सनवारा टोल प्लाजा के बीच की दूरी 30 किमी करीब है। ऐसे में अब केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री के बयान के मुताबिक, एक टोल प्लाजा हटाया जाएगा।

चंडीमंदिर टोल प्लाजा प्रबंधन की तरफ से किसान आंदोलन के बाद मल्टीपल और मासिक टैक्स में इजाफा कर दिया गया था। इसके मुताबिक कार का सिंगल फेयर 30 रुपये और डबल फेयर 50 रुपये है। चंडीमंदिर टोल प्लाजा से रोजाना 15-20 हजार गाड़ियां गुजरती हैं। वहीं, वीकेंड पर यह आंकड़ा 35 हजार तक पहुंच जाता है। क्रिसमस और नए साल मनाने के लिए लोग शिमला की ओर रुख करते हैं, तो 40 हजार तक भी गाड़ियां टोल से निकलती हैं। इस राजमार्ग पर बड़ी संख्या में आते-जाते हैं टूरिस्ट दिल्ली, हरियाणा, चंडीगढ़, पंजाब और अन्य शहरों से बड़ी संख्या में सैलानी और हिमाचली लोग शिमला आते-जाते हैं। ऐसे में अब एक टोल प्लाजा हटने से चंडीगढ़ से शिमला का सफर सस्ता होगा।

आंकड़ों के मुताबिक वीकेंड पर चंडीगढ़ से शिमला के लिए 30 से 35 हजार वाहन जाते हैं और इसकी मुख्य वजह यह है कि चंडीगढ़ से शिमला नजदीक है और लोग कसौली, कुफरी, सोलन, चायल जैसी जगहों पर घूमना पसंद करते हैं।वहीं चंडीमंदिर टोल टैक्स से सोलन की और जाते हुवे रास्ते मे आने वाला सनवारा टोल प्लाजा करीब एक साल पहले शुरू हुआ है।इस टोल प्लाजा पर कार-जीप का एक तरफ का शुल्क 55 रुपये है। डबल फेयर 85 रुपये वसूला जाता है। साथ ही लाइट कॉमर्शियल व्हीकल, लाइट गुड्स व्हीकल और मिनी बस के लिए 90 रुपये, बस-ट्रक (टू एक्सेल) 190 रुपये, थ्री एक्सेल कॉमर्शियल व्हीकल के 210 रुपये, हैवी कंस्ट्रक्शन मशीनरी के 300 और ओवरसीज्ड व्हीकल के 365 रुपये लिए जाते हैं। सनवारा टोल प्लाजा पर फास्टैग से यह शुल्क लगता है वहीं, जिस वाहन पर फास्टैग नहीं लगा होगा उससे दोगुना राशि वसूली जाती है।

विज्ञापन बॉक्स (विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें)

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड ड्रग्स केस में और भी कई बड़े सितारों के नाम सामने आएंगे?

View Results

Loading ... Loading ...

आज का राशिफल देखें 

[avatar]